कार्यक्षेत्र एवं क्षेत्राधिकार

 

बसाहटों के नियोजन के प्रति,प्रतिबद्धता के रूप में प्रदेष के नगर तथा ग्राम निवेष संचालनालय द्वारा मध्यप्रदेष नगर तथा ग्राम निवेष अधिनियम 1973 के प्रावधानों तथा इसके अंतर्गत बनाये गये म.प्र. नगर तथा ग्राम निवेष नियम 2012 एवं मध्यप्रदेष भूमि विकास नियम 2012 के अन्तर्गत क्षेत्रीय एवं नगरों के नियोजन का कार्य किया जाता है। संचालनालय का क्षेत्राधिकार संपूर्ण मध्यप्रदेष है ।

मुख्य कार्यकलापः-

 

 

1. नगरों के निवेष क्षेत्रों की विकास योजनायें बनाना ।
2. विकास योजनाओं का पुनर्विलोकन, मूल्यांकन एवं उपान्तरण करना ।
3. गठित निवेष प्रदेषों की प्रादेषिक योजनायें बनाना ।
4. विकास योजनाओं के क्रियान्वयन में मार्गदर्षन
5. नगरों के अप्राधिकृत विकास पर नियंत्रण (प्रवर्तन)
6. विकास प्राधिकरण/विषेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण/गृह निर्माण मण्डल एवं अन्य विकास संस्थाओं को परियोजना तैयार करने में मार्गदर्षन ।
7. राज्य शासन एवं अन्य संस्थाओं को नये नगरों एवं औद्योगिक विकास केन्द्रों के व्यवस्थापन, भूमि नियोजन,स्थल चयन आदि में मार्गदर्षन एवं सहयोग ।
8. राज्य शासन को भूमि विकास एवं प्रबंधन संबंधी नीतियों के निर्धारण में सहयोग।
9. नेषनल अर्बन इन्फार्मेषन सिस्टम की स्टेट नोडल एजेन्सी के कार्य दायित्व ।

 

 

 

 

 

 

 

 

Visitors :